Gyanspothindi एक हिंदी कंटेंट आधारित वेबसाइट है। जिस पर आपको तकनीक, विज्ञान, स्वास्थ्य और जीवन शैली से संबंधित जानकारियां हिंदी में शेयर की जाती हैं। इसके अलावा इस वैबसाइट पर प्रेरणात्मक कहानी, संघर्ष की कहानी, ऑटो बायोग्राफी भी शेयर की जाती हैं। जिसका एकमात्र उद्देश्य अपने देश के लोगों को प्रेरित करना है। अगर आप इस वैबसाइट के साथ बने रहते हैं, मेरा मतलब है कि अगर आप इस वैबसाइट पर लिखी गई पोस्ट को पड़ते हैं तो आप विज्ञान, और अपने जीवन से जुड़ी जानकारियों से अपडेट रहेंगे।

Thursday, March 5, 2020

गेम खेलने से होने वाले फायदे और नुकसान ।। Advantage and negative side effects of gaming addiction


पूरी दुनियां में इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या बहुत तेज गति से प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, जिसके साथ बहुत सी ऐसी चीजें भी बड़ती जा रही हैं जो हमारे वक्त को गुजारने में हमारा साथ देती हैं। इनमें से वीडियो गेम मुख्य है। लेकिन गेम्स को खेलने से कुछ लोगों में वीडियो गेम का क्रेज इतना बड़ जाता है कि वो अपना सारा समय इसी में बीता देते हैं, जिसकी वजह से उन्हें बहुत से दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ता है।

विडियों गेम उनके ग्राफिक्स, साउंड, दृश्य के लिए जाने जाते हैं। आपने हमेशा अपने से बड़ों से ये सुना होगा कि  एक शोध में यह पता चला है कि सौ में से नब्बे बच्चे वीडियो गेम खेलते हैं, सिर्फ बच्चे ही नहीं ज्यादा उम्र के लोग भी वीडियो गेम के आदी पाए गए हैं।

अगर आप कोई भी वीडियो गेम खेलते हैं तो इस पोस्ट में दी गई जानकारी आपको जानना बहुत जरूरी है। आपने ये तो सुना होगा कि गेम खेलने से हमें बहुत नुकसान होते हैं जो कि सही भी है, लेकिन इस पोस्ट में आपको नुकसान के साथ साथ गेम खेलने से होने वाले फायदों के बारे में भी बताया गया है और ये भी बताया गया है कि कैसे हमें गैम्स की लत लग जाती है ।तो चलिए शुरू करते हैं गेम खेलने से होने वाले नुकसान से

गेम-खेलने-से-होने-वाले-फायदे-और-नुकसान ।। Side effects of pubg games
गेम-खेलने-से-होने-वाले-फायदे-और-नुकसान 

गेम खेलने से होने वाले नुकसान

गैम्स खेलने के एक नहीं कई नुकसान हैं, जो कि इस प्रकार हैं

1  गेम खेलने का आंखों पर प्रभाव

अगर आप अपना ज्यादा समय गेम खेलने में बिताते हैं या रात को ज्यादा देर तक गेम खेलते हैं तो गेम के ग्राफिक्स और उसमें मौजूद रंगों के रिफ्लेक्शन से हमारी आंखों पर गहरा प्रभाव पड़ता है। हमारी आंखों की रोशनी धीरे धीरे कम होने लगती है।

2  आसपास के माहौल से दूरी

वो इंसान जो किसी भी नशे का आदी है, धीरे धीरे उसका ध्यान दुनियां से दूर होने लगता है। ज्यादा गेम खेलना या बिना गेम खेले कुछ भी अच्छा न लगना भी एक नशा ही है। गेम खेलने से हमें मज़ा आता है क्युकी हमारा दिमाग इसमें अच्छा महसूस करता है लेकिन धीरे धीरे इसके ज्यादा इस्तेमाल से ध्यान दूसरी चीजों जैसे कि कोई काम, आसपास का माहौल, परिवार, दोस्त आदि से हटने लगता है

3  गेम खेलने से होती है नींद की समस्या

फोन पर गेम्स खेलने से नींद से जुड़ी समस्याएं होने लगती है। रात को सोने से पहले अगर हम गेम खेलते हैं तो रात में नींद देरी से आती है। यह बात वैज्ञानिक रूप से सिद्ध हो चुकी है कि फोन से निकलने वाले नीले और कई रंगों के प्रभाव से हमारे दिमाग में वो केमिकल नहीं निकल पाता जो हमें नींद आने का अहसास कराता है।

4  गेम खेलने से पढ़ाई में नहीं लगता मन

जैसा कि आपने जाना कि ज्यादा गेम खेलने से बाकी चीज़ों से हमारी रूचि ख़तम होने लगती है। इसमें सबसे ज्यादा नुकसान जब होता है जब कोई विद्यार्थी को ज्यादा गेम खेलने की लत लग जाती है। हालांकि ऐसा महसूस नहीं होता कि हम किसी लत के शिकार हैं पर असल में वो लत ही होती है, और इससे उस विद्यार्थी का पड़ाई में मन नहीं लगता। क्यूंकि हमारा दिमाग ऐसा कोई भी काम जो बोरिंग हो उसे करने के लिए बहुत मुश्किल से राजी होता है, लेकिन जिसमें मजा आए उसे करने के लिए तुरंत तैयार हो जाता है।

5  बड़ जाती है आक्रमकता

द अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन (एपीए) के अध्ययनों ने साबित किया था कि इसे गेम जिसमें हिंसक दृश्यों को दिखाया जाता है यानि जो दूसरे लोगों को मारने पर आधारित होते हैं, उनके ज्यादा इस्तेमाल से  बच्चो के दिमाग पर  गहरा असर होता है। जिससे उनके विचार हिंसक हो जाते हैं। कई जगह ऐसी कई घटनाओं को देखा गया है।

6  गेम खेलना समय को करता है बर्बाद 

गेम एक ऐसा विकल्प है जो हमारे समय को गुजरने में हमारी मदद करता है, साथ ही हमें इसमें मजा भी आता है। कई बार आप भी ये जरूर महसूस किया होगा कि गेम खेलते समय समय कब गुजर जाता है पता ही नहीं चलता। जिन लोगों को ज्यादा गेम खेलने की आदत होती है वो अपना सारा समय और ध्यान इसी में लगा देते हैं। जिससे उन्हें शारीरिक नुकसान के साथ समय की बर्बादी करने से भविष्य में और भी कई नुकसान देखने को मिलते हैं

7  डिप्रेशन और तनाव की समस्या

नशा करने वाला व्यक्ति नशा इसी लिए करता है कि उसे ऐसा करने से सुकून और खुशी मिलती है जो कि सामान्य अवस्था में नहीं मिलती। इसी तरह एक व्यक्ति गेम भी इसीलिए खेलता है क्योंकि इसमें उसे मजा आता है, यहां तक तो ठीक है लेकिन जब ये आदत लत बन जाती है तो उस व्यक्ति को बिना गेम खेले कुछ अच्छा नहीं लगता।
गेम-खेलने-से-होने-वाले-फायदे-और-नुकसान ।। Side effects of pubg games
गेम-खेलने-से-होने-वाले-फायदे-और-नुकसान 

वो गेम तो इसी लिए खेलता है कि उसे अच्छा महसूस हो सके लेकिन बाकी चीज़ों से उसकी रूचि खत्म होने की वजह से वो डिप्रेशन और तनाव का शिकार हो जाता है।

कैसे होते हैं गेम की लत के शिकार?

दोस्तो हम अपने जीवन में बहुत कुछ महसूस करते हैं और ओर बहुत सी आदतें बनाते हैं ये सब संभव हमारे दिमाग में निकलने वाले रसायनों से ही होता है। हमारे दिमाग में बहुत सारे रसायन होते हैं जो हमें बहुत सारी भावनाओं का अहसास कराते हैं, इनमें से मुख्य होता है 'डोपामिन' ये जब हमारे दिमाग में निकलता है तो हमें खुशी और संतोष का अनुभव होता है।
(ये भी पढ़ें - अपने दिमाग को नशे से इस तरह करें दूर)

गेम खेलते समय भी यही रसायन निकलता है और हमें अच्छा अनुभव करता है, और इसके चलते हम इसका जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने लगते हैं और इसके आदी हो जाते हैं। गेम खेलने से हमें अच्छा तो लगता है लेकिन इसके बहुत ज्यादा इसतेमाल करने अथवा आदी हो जाने से बहुत से नुकसान भी हमें उठाने पड़ते हैं, जिनके बारे में आप ऊपर पढ़ चुके हैं।

गेम की लत के चलते ऐसी कई घटनाएं अक्सर सामने आती रहती हैं, जिसमें लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ता है। ऐसी ही एक घटना थी जिसमे दो भाइयों को गेम खेलने की ऐसी लत लगी कि वो अपना सारा समय ऑनलाइन गेम खेलने में ही बिताया करते थे और किसी भी काम को करने के लिए समय नहीं निकाल पाते थे। महीनों अस्पताल में इलाज होने के बाद उनकी हालत में सुधार हो पाया था।

 गेम खेलने से होने वाले फायदे

गेम खेलने के नुकसान और इनसे पड़ने वाले नकरात्मक प्रभावों के बारे में तो आप पढ़ चुके हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि गैम्स खेलने से हमें कुछ फायदे भी होते हैं, लेकिन जब होते हैं जब हम असल दुनियां से भी जुड़े रहते हैं। अगर हम सब कुछ भूलकर सिर्फ गैम्स खेलें तो हमें सिर्फ नुकसान ही देखने को मिलेंगे, लेकिन अगर बैलेंस में खेले तो कई लाभ भी होते हैं

1  आईक्यू में वृद्धि

गेम-खेलने-से-होने-वाले-फायदे-और-नुकसान ।। Side effects of pubg games
गेम-खेलने-से-होने-वाले-फायदे-और-नुकसान 

कुछ गेम ऐसे होते हैं जिन्हें खेलने के लिए ज्यादा दिमाग का इस्तेमाल करना पड़ता है, कुछ ऐसे भी होते हैं जिनमें मल्टी टास्किंग होती है यानि खिलाड़ी को एक बार में कई काम करने होते हैं जैसे खुद को बचाने के साथ खतरों को कम करना, एनर्जी लेना आदि। इन गेमों को अगर सही मात्रा में खेला जाए तो ये हमारे दिमाग को बूस्ट कर IQ लेवल में वृद्धि करते हैं। जिससे हमारे सोचने और समझने की शक्ति बड़ जाती है।

2  गेम से होने वाला मनोरंजन

गेम खेलने का सबसे बड़ा कारण मनोरंजन ही होता है, पहले जब टेक्नोलॉजी में इतनी उन्नति नहीं हुई थी तो व्यक्ति अपना बहुत सा समय अकेले ही बिना बोर हुए काट दिया करता था। लेकिन आज टेक्नोलॉजी से हमारे समाज में जो बदलाव आया है और उससे जो माहौल हमारे समाज में बना है उसके हिसाब से व्यक्ति बहुत ही जल्दी ऊब जाता है। ऐसे में गेम भी उन चीजों में से एक होता है जो उसके समय को गुज़ार कर उसे थोड़ा मनोरंजन देती हैं।

3  थोड़े समय के लिए तनाव से मुक्ति

जब कोई इंसान गेम खेलता है तो उसका पूरा ध्यान इसमें केंद्रित हो जाता है, और वो आस पास के माहौल और अपनी सभी समस्याओं को कुछ समय के लिए भूल जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि मनोरंजन के अनुभव के चलते उस व्यक्ति के दिमाग़ में रिलीज़ हुआ डोपामिन केमिकल उस केमिकल को नहीं निकलने देता जो उसे किसी भी तनाव का अहसास कराए, और कुछ समय के लिए वो तनाव से मुक्त हो जाता है। लेकिन अगर व्यक्ति को गेम को अधिक मात्रा में खेलने लगे तो यही उसके तनाव का कारण बन जाता है।

4  एकता की भावना बड़ती है

कुछ गेम ऐसे भी होते हैं जिन्हें दो या दो से अधिक लोगों द्वारा मिलकर खेला जाता है, ऐसे गेम हमारे दिमाग पर एकता की भावना का विकास करते हैं। अपने साथियों के साथ मिलकर कोई गेम खेलने और उसे जीतने से अप्रत्यक्ष रूप से हमारा दिमाग एकता की शक्ति को समझने लगता है।

5  एकाग्रता और तेज नज़र

आप सोच रहे होंगे कि मैने गेम खेलने के नुकसानों में आपको आंखों पर दुष्प्रभाव के बारे में बताया था तो फिर गेम से नजर कैसे तेज़ हो सकती है। ये सच है कि गेम खेलने से हमारी आंखों पर दुष्प्रभाव होता है लेकिन जब वो जरूरत से ज़्यादा या रात में खेला जाए तो, अगर गेम को हम सही मात्रा में खेलें तो हमारी देखने की शक्ति तेज हो जाती है, और ऐसा व्यक्ति छोटे आकार में लिखे हुए लेख को भी पढ़ सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि गेम खेलते समय हमारी आंखों के साथ पूरा दिमाग केंद्रित होकर अलर्ट रहता है। इस प्रैकटिस से हमारा दिमाग अधिक अलर्ट हो जाता है और जब भी हम कुछ देखते हैं तो वो तुरंत वो सिग्नल हमारे दिमाग को देता है और हम उसे जल्दी समझ पाते हैं।

 गेम खेलना सही या ग़लत

   दोस्तो इस पोस्ट में आपको गेम के नुकसान और उसके फायदे दोनों के बारे में बताया गया है जो वैज्ञानिक रूप से सिद्ध हैं, तो इस पोस्ट में जानकारी को पढ़कर आपके दिमाग में यह विचार जरूर आ रहा होगा कि गेम खेलना सही है या गलत जिसका जवाब भी में आपको दे देता हूं।

दोस्तो जरूरत से ज़्यादा किसी भी चीज का इस्तेमाल नुकसान दायक होता है, जैसे पानी हमारे जीवन का मूल आधार होता है बिना इसके हम जी नहीं सकते लेकिन अधिक मात्रा में पानी पी लेने से हमे कई नुकसान भी देखने को मिलते हैं। उसी प्रकार गेम अगर हम सही मात्रा और बैलेंस में खेले जिससे हमारा समय बर्बाद न हो तो कोई समस्या नहीं, लेकिन अगर इसकी लत लग जाए तो हमें कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
इन जानकारियों को भी जरूर पढ़ें -

👉आप भी पानी को गलत समय और गलत तरीके से नहीं पीते, क्यूंकि हो सकती है इससे गंभीर बीमारियां।
 👉 पूरी दुनियां के सबसे अमीर व्यक्ति की मोटिवेशनल कहानी


आशा करता हूं ये पोस्ट जिसमे आपको गेम खेलने से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी दी गई है  आपको पसंद आयी होगी, कमेंट करके हमें बताएं और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

धन्यवाद।

No comments:

Post a Comment